यू तो भारत एक किस्से कहानियो वाला देश कहा जाता है लेकिन समय समय पर यहाँ ऐसे कई रहस्यमय घटनाये हुयी है जिन्हे देखकर इंसानो को न चाहते हुए भी इन रहस्यमय घटनाओं पर यक़ीन करना ही पड़ता है। तो आज के इस आर्टिकल में हम ऐसे ही कई भारत के अनसुलझे रहस्य को आपके सामने ला रहे है जिन्हे जानने के बाद यक़ीनन आप भी सोचने पर मजबूर हो जायेंगे |

1- कुलधारा गांव (Kuldhara Village)

जैसलमेर से 15 किलोमीटर दूर एक रहस्यमय स्थान है जिसे कुलधारा गांव (Kuldhara Village) के नाम से जाना जाता है, कुलधारा गांव का निर्माण 1291 यानि की लगभग तेरहवी शताब्दी में हुआ था । इस गांव के बारे में ऐसा कहा जाता है कि ये मुख्य रूप से पालीवाल ब्राह्मणो का निवास स्थान था, लेकिन 1825 यानि की लगभग 19वी  शताब्दी की एक रात को सारे लोगो ने अचानक ये गांव खाली कर दिया ।

कुलधारा गांव के लोगो के अचानक गायब होने के इस रहस्य को आज तक कोई नहीं सुलझा पाया है और तब से लेकर अब तक ये गांव ऐसे ही खाली पड़ा है । सुनने में ये भी आया है कि अगर किसी ने इस गांव की ज़मीन को हथियाने की कोशिश भी की तो उसकी रहस्यमय रूप से मृत्यु हो जाती है और तो और राजस्थान सरकार ने यहाँ किसी प्रकार के कंस्ट्रक्शन करने पर रोक लगा दी है ।

अब कुलधारा गांव के लोगो का इस गांव में लगभग सात शताब्दियाँ गुजारने के बाद अचानक गायब हो जाना हमारे लिए आज भी एक अनसुलझा रहस्य बना हुआ है ।

2- प्रहलाद जानी (Prahlad Jani)

एक आदमी बिना कुछ खाये पिए कितने दिनों तक ज़िंदा रह सकता है ? 10 दिन, 20 दिन या फिर एक महीना । लेकिन आप ये जानकर हैरत में पड़ जायेंगे कि भारत में एक ऐसा इंसान भी है जो पिछले 70 सालो से बिना कुछ खाये पिए भी ज़िंदा है । जी हा, इस व्यक्ति का नाम प्रहलाद जानी है ।

गुजरात में रहने वाले 83 साल के प्रहलाद जानी दावा करते है कि उन्होंने पिछले 70 सालो से न कुछ खाया है और न ही पिया है इस रहस्य को जानने के लिए डॉक्टरों की एक टीम साल 2010 में 22 अप्रैल से लेकर 06 मई तक, लगभग 15 दिन, कैमरों की मदद से प्रहलाद जानी पर नजर रखी और नतीजे देखकर डॉक्टरों की टीम दंग रह गयी ।

जहा साइंस ये दावा करता है कि एक इंसान बिना खाये कुछ हफ्तों तक और बिना पानी पिए सिर्फ 3 से 4 दिन ही ज़िंदा रह सकता है वही प्रहलाद जानी का पिछले 70 सालो से बिना कुछ खाये पिए ज़िंदा रहना अपने आप में एक बहुत बड़ा अनसुलझा रहस्य है ।

इन्हे भी पढ़े –

3- जोधपुर का सोनिक बूम (Sonic Boom of Jodhpur)

घटना 18 दिसंबर 2012 को राजस्थान के एक छोटे शहर जोधपुर की है यहाँ के लोग अपनी सामान्य दिनचर्या में व्यस्त थे तभी लोगो ने दिल दहला देने वाली एक अजीबोगरीब आवाज सुनी । ये आवाज ऐसी प्रतीत हो रही थी मानो आसमान में कोई विस्फोट हुआ हो । ये आवाज़ इतनी तेज़ थी की आसपास के देशो में भी साफतौर पर सुनी गई थी।

दोस्तों जब कोई प्लेन साउंड की स्पीड से ज्यादा रफ़्तार से चलती है तो उनके आपस में टकराने से एक आवाज़ उत्पन्न होती है जो सुनने में किसी भारी विस्फोट की तरह मालूम होती है इस आवाज़ को सोनिक बूम के नाम से जाना जाता है।

जोधपुर में सुनाई देने वाली ये आवाज़ वैसे ही प्रतीत हो रही थी जैसे की सोनिक बूम, लेकिन भारतीय मिलिट्री ने इस बात से साफ इंकार किया है कि उन्होंने इस दिन जोधपुर या इसके आसपास के इलाको में ऐसे कोई भी प्लेन उड़ाई हो जिसके कारण इतनी तेज आवाज पैदा हो, अब ये आवाज आयी कहा से ये आज भी हमारे लिए एक रहस्य बना हुआ है।

4- उत्तराखंड का रूपकुंड झील (Roopkund Lake of Uttarakhand)

रूपकुंड उत्तराखंड में स्थित एक रहस्यमय झील है जिसे कंकाल की झील भी कहा जाता है। इस झील की खोज 1942 में सर्द मौसम में की गयी थी और उस समय यह झील कंकालो से पूरी तरह जमी हुयी थी। आगे गर्मियों में जब यहाँ की बर्फ पिघली तो इस झील में और इसके आसपास और भी कंकाल पाए गए इस रहस्यमय झील के बारे में लोग तरह तरह की बातें करते है। जहा कुछ लोग इसे विस्फोट में मारे गए जैपनीज़ सिपाहियों का कंकाल बताते है तो वही कुछ दूसरे लोग इसे अचानक जानलेवा और मूसलाधार बारिश होने के कारण मारे गए इंसानो का कंकाल बताते है ।

हालाँकि इस रूपकुंड झील का सच क्या है ? ये आजतक किसी को नहीं मालूम है और ये आज भी हमारे लिए एक अनसुलझा रहस्य बना हुआ है।

5- 9 अज्ञात लोग ( The 9 Unknown People)

इन 9 अज्ञात लोगो के सोसाइटी के बारे में जानने के लिए हम वक़्त को पीछे सम्राट अशोक के कार्यकाल यानि कि 273 बी सी में ले चलते है।

कलिंगा के युद्ध को जीतने के बाद सम्राट अशोक ने मानवता और विकास की रक्षा के लिए 9 लोगो की एक सीक्रेट सोसाइटी बनायीं, इन 9 लोगो को अशोक ने 9 डिफरेंट किताबें थमाई। इन किताबों में मानव जीवन, युद्ध की कला, प्रकाश की गति और UFO जैसी दुनियाभर की कई अद्भुत बातें थी।

इन किताबो को पढ़कर कोई कुछ भी कर सकता था और पूरी दुनिया को भी बदल सकता था, इन किताबो के साथ सम्राट अशोक ने उन 9 लोगो को ये जिम्मेदारियां भी दी कि उन्हें हर हाल में इन किताबो को किसी गलत हाथों में पड़ने से बचाना है क्योकि इन किताबो में छिपे ज्ञान से कोई भी सर्वशक्तिमान बन सकता था और इनका गलत हाथो में पड़ने पर दुनिया का विनाश भी किया जा सकता था। सम्राट अशोक ने उन 9 लोगो को ये भी आदेश दिया कि ज़रूरत पड़ने पर इन किताबो का उपयोग मानवता की भलाई के लिए किया जाये।

ऐसा माना जाता है कि सम्राट अशोक की ये सीक्रेट सोसाइटी आज भी इस दुनिया में मौजूद है लेकिन इन 9 लोगो की पहचान क्या है ये आज भी भारत के अनसुलझे रहस्य बने हुए है।

नीचे कमेंट करके बताये की ये पोस्ट भारत के अनसुलझे रहस्य । Unsolved Mysteries of India आपको कैसी लगी और अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये, आप ऐसे और भी रोचक आर्टिकल्स के लिए आप हमारे फेसबुक पेज Entertainment Cafe को लाइक करके इस वेबसाइट को फॉलो कर सकते है, फाइनली यहाँ तक पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !